Wazu ki Dua in Hindi, English | वजू की दुआ

Wazu ki Dua in Hindi: दोस्तों, आज की पोस्ट में आप सभी को Wazu ke Darmiyan ki Dua में पढ़ने के लिए बहुत सारे दुआ सिखने को मिलेंगे।

यह भी सिखाता है कि Wazu ke Faraiz के हर अरकान को धोते हुए और कुल्ली को नाक में पानी डालते हुए पढ़ते हैं।

जैसे आप, मैं भी वजू की दुआ पढ़ता था जो वजू करने के बाद पढ़ी जाती है, जो बिल्कुल सही है क्योंकि आप में से कई लोग यही दुआ सिखने आए हैं।

लेकिन अगर आप अधिक सवाब पाना चाहते हैं तो निचे दिए गए सभी दुआओं को याद कर लें और जब आप वजू करने बैठते हैं तो पढ़ते रहें।

नमाज़ पढ़ने के लिए वजू आवश्यक है; बिना वजू के नमाज़ कबूल नहीं होगी। इसलिए सभी को Wazu karne ka Tarika सीखना चाहिए।

Wazu se Pahle ki Dua

दोस्तों जब वुज़ू का इरादा यानि नीयत करें तो सबसे पहले बिस्मिल्लाह और दूसरा कलमा पढ़ें और हाथ धोना शुरू करे। जैसे जब अज़ान होती है तो आप सभी मस्जिद की तरफ जाते है और वज़ुखाना पर बैठ कर वुजू करने लगते है लेकिन जब बैठते है उसी वक़्त बिस्मिल्लाह और दूसरा कलमा पढ़ें।

See also  Namaz Me Padhi Jane Wali Dua

بِسْمِ اللّٰہِ الرَّحْمٰنِ الرَّحِیۡمِ

اَشۡھَدُ اَنۡ لَّا اِلٰھَ اِلَّااللّٰھُ وَحۡدَہٗ لَا شَرِیۡکَ لَھٗ وَاَشۡھَدُاَنَّ  مُحَمَّدً عَبۡدُہٗ وَرَسُوۡلُھٗ

तर्जुमा:- मैं गवाही देता हूँ अल्लाह के सिवा कोई इबादत के लायक़ नहीं वह अकेला है उसका कोई शरीक नहीं और गवाही देता हूँ कि मुहम्मद सल्लल्लाहु अलैहे वसल्लम उसके बन्दे और रसूल हैं।

Wazu me Kulli Karte waqt ki Dua

वजू शुरू करने के बाद कम से कम तिन मर्तबा दोनों हाथ धोयेंगे फिर कम से कम तिन मर्तबा कुल्ली करते है जब कुल्ली करने लगेंगे तो ये दुआ पढ़े।

اَللّٰھُمَّ  اَعِنِّیۡ عَلٰی تِلَاوَۃِالۡقُرۡاٰنِ وَزِکۡرِکَ وَشُکۡرِکَ وَحُسۡنِ عِبَادَتِکَ

हिंदी में दुआ:- “अल्लाहुम्मा इन्नी अला तीला वतिल कुर’आनी व ज़ीक रीक़ व शुक रीक़ व हुसने इबादती क”

तर्जुमा:- ऐ अल्लाह तू मेरी मदद कर कि क़ुरआन की तिलावत और तेरा ज़िक्र व शुक्र करूँ और तेरी अच्छी इबादत करूँ

Nak me Paani Dalte Waqt ki Dua

नाक में कम से कम 3 मर्तबा पानी डालना चाहिए और बाए हाथ की सबसे छोटी उंगुली से नाक साफ़ करे और जब नाक में पानी डालने लगे तो नाक में पानी डालते वक़्त की यह दुआ पढ़े।

اَللّٰھُمَّ اَرِحۡنیۡ رَائِحَۃَالۡجَنَّۃِ وَلَا تُرِحُنِیۡ رَائِحَۃَالنَّارِ

हिंदी में दुआ:- “अल्लाहुम्मा अ रहनी राए ह तल जन्नते वला तु रिहनी राए हतन नार”

तर्जुमा:- ऐ अल्लाह तू मुझे जन्नत की ख़ुशबू सुंघा और दोज़ख़ की बू से बचा

Wazu me Muh Dhote Waqt ki Dua

Wazu ki Fayde बहुत ज्यादा है इसी लिए हम लोगो को चाहिए की इत्मिनान के साथ हर अजा को धोए और जब चेहरा धोने लगे तो ये दुआ पढ़े।

اَللّٰھُمَّ  بَیِّضُ وَجۡھِیۡ یَوۡمَ تَبُیَضُّ وُجُوۡہٌ وَ تَسۡوَدُّ وُجُوۡہٌ

हिंदी में दुआ:- “अल्लाहुम्मा बैय्यिद वजही यौम तब यज़ु वु जु हुंव व तस वददू वज़ु हु”

See also  सफ़र की दुआ हिंदी, इंग्लिश और अरबी में | Safar Ki Dua In Hindi

तर्जुमा:- ऐ अल्लाह तू मेरे चेहरे को चमका जिस दिन कुछ चेहरे चमकते होंगे कुछ चेहरे स्याह।

Wazu me Hath Dhote Waqt ki Dua

जब हाथ धोने लगे तो धयान रहे की दोनों हाथो समेत कहनियो तक धोए कही एक बाल बराबर भी सुखा ना रह जाए नहीं तो आपकी वजू नहीं होगी।

और वजू में हाथ धोने वक़्त की 2 दुआ पढ़ा जाता है:

दाहिना हाथ कोहनियों तक धोते वक़्त यह दुआ पढ़ें

اَللّٰھُمَّ اَعۡطِنِیۡ کِتَابِیۡ بِیَمِیۡنِیۡ وَ حَاسِبۡنِیۡ حِسَاباً یَّسِیۡرًا

हिंदी में दुआ:- अल्लाहुम्मा अ तिनी कीताबी बि यमिनी व हासिबनी हिसाबय्यं यमीरा

तर्जुमा:- ऐ अल्लाह मेरा नामा-ए-आमाल मेरे दाहिने हाथ में देना और मुझसे आसान हिसाब करना।

बायाँ हाथ कोहनियों तक धोते हुए यह दुआ पढ़ें

اَللّٰھُمَّ لَا تُعۡطِنِیۡ کِتَابِیۡ بِشِمَالِیۡ وَلَا مِنۡ وَّرَآءِ ظَہۡرِیۡ

हिंदी में दुआ:- अल्लाहुम्मा ला तुअ तिनी किताबि बि शिमाली व ला मिंव व राए ज़हरी

तर्जुमा:- ऐ अल्लाह मेरा नामा-ए-आमाल न मेरे बायें हाथ में दे और न पीठ के पीछे से

Sar ka Masah Karte Waqt ki Dua

दोस्तों अगर आप चाहते है की वजू में बहुत ज्यादा सवाब मिले तो Wazu ki Sunnat को अच्छी तरह से फॉलो करे जिससे सर का मसह अच्छी तरह से कर पाएंगे।

सर की  मसह करने की दुआ:

اَللّٰھُمَّ اَظِلَّنِیۡ تَحۡتَ عَرۡشِکَ یَوۡمَ لَا ظِلَّ اِلَّا ظِلَّ عَرۡشِکَ

हिंदी में दुआ:- अल्लाहुम्मा अज़िल्लनी तहता ज़िल्ली अरशिका यौम ला ज़िल्ला इल्ला ज़िल्ला अरशिका

तर्जुमा:- ऐ अल्लाह तू मुझे अपने अर्श के साये में रख जिस दिन तेरे अर्श के साये के सिवा कहीं साया नहीं होगा।

Kan ka Masah Karte Waqt ki Dua

दोस्तों कान का अच्छी तरह से मसह करे क्युकी अक्सर कान में गंदगी हो जाती है और दोनों हाथो की छोटी उंगुली से साफ़ करे और ये दुआ पढ़े।

اَللّٰھُمَّ اجۡعَلۡنِیۡ مِنَ الَّذِیۡنَ یَسۡتَمِعُوۡنَ الۡقَوۡلَ فَیَتَّبِعُوۡنَ اَحۡسَنَھٗ

हिंदी में दुआ:- “अल्लाहुम्म् मज़्अलनी मिनल्लज़ी न यस्तमिउनल क़ौल फ यत्तबियुना अहसनहु”

See also  Ghusl Ki Dua | ग़ुस्ल की दुआ हिंदी में

तर्जुमा:- ऐ अल्लाह तू मुझे उनमें कर दे जो बात सुनते हैं और अच्छी बात पर अमल करते हैं।

Gardan ka Masah karte Waqt ki Dua

सर का मसह करने के बाद जब गर्दन का मसह करने लगे तो ये दुआ पढ़े।

اَللّٰھُمَّ اَعۡتِقۡ رَقَبَتِیۡ مِنَ النَّارِ

हिंदी में दुआ:- “अल्लाहुम्मा आतिक रक़बती मिन्ननार”

तर्जुमा:- ऐ अल्लाह मेरी गर्दन दोज़ख़ की आग से आज़ाद कर।

Wazu me Pair Dhote waqt ki Dua

दोस्तों हम सब को Wazu ke Mustahab को अच्छी तरह से मानना चाहिए जिसमे अच्छी तरह से बताया गया है की वजू में कितने चीजों को अच्छी तरह से करने सवाब मिलता है।

जिस तरह से हाथ धोने पर दो दुआ पढ़ा जाता है ठीक उसी तरह पैर धोते वक़्त भी दो दुआ पढ़ा जाता है:

दाहिना पाँव धोते वक़्त की दुआ

बायाँ पाँव धोते वक़्त की दुआ

वुजू में दाहिना पाँव धोते वक़्त की दुआ

اَللّٰھُمَّ ثَبِّتۡ قَدَمِیۡ عَلَی الصِّرَاطِ یَوۡمَ تَزِلُّ الۡاَقۡدَامُ

हिंदी में दुआ:- “अल्लाहुम्मा सब्बित कदमी अलस्सिराती यौ म तज़िल्लुल कदामी”

तर्जुमा हिंदी में:- ऐ अल्लाह तू मेरे क़दम पुल सिरात पर जमाये रखना जिस दिन कि उस पर क़दम फिसलें।

वुजू में बायाँ पाँव धोते वक़्त की दुआ

اَللّٰھُمَّ اجۡعَلۡ ذَنۡبِیۡ مَغۡفُوۡرًاوَّسَعۡیِی مَشۡکُوۡرًا وَّتِجَارَتِیۡ لَنۡ تَبُوۡرَ

हिंदी में दुआ:- “अल्लाहुम्म् मज्अल ज़ंबी मगफ़ुरउं व सइ मशकुउं व तिजारती लन तबूरा”

हिंदी में तर्जुमा:- ऐ अल्लाह मेरे गुनाह बख़्श दे और मेरी कोशिश कामयाब कर और मेरी तिजारत हलाक न हो

दोस्तों अब आप सभी की Wazu ki Dua पूरी हो गयी इसी तरह से इन सभी दुआ को याद करने की कोशिश करे और जब तक याद नहीं हो जाता तब तक दरूद शरीफ पढ़े।

Wazu ke Baad ki Dua

जब वजू खत्म हो जाएगी तब वुज़ू के बाद आसमान की तरफ मुँह उठाकर दूसरा कलमा और यह दुआ पढें।

Wazu ki Dua in Arabic

اَللّٰھُمَّ اجۡعَلۡنیۡ مِنَ التَّوَّابِیۡنَ وَاجۡعَلۡنِیۡ مِنَ الۡمُتَطَہِّرِیۡنَ

Wazu ki Dua in Hindi

“अल्लाहुम्मज अलनी मिनत तव्वाबीन वज अलनी मीनल मुततातह्हिरिन”

वजू के बाद की दुआ का तर्जुमा

(ऐ अल्लाह तू मुझे तौबा करने वालों और पाक लोगों में कर दे)

नोटः- वुज़ू करते में ऊपर दी गई दुआओं का अरबी में पढ़ना अफ़ज़ल है अगर किसी को याद न हो सकें तो कम से कम उनका हिन्दी तर्जुमा ज़रूर पढ़ लें।

आज आपने क्या सीखा

मुझे उम्मीद है की आज की पोस्ट Wazu ki Dua in Hindi पसंद आई होगी जिसमे वजू के हर एक आजा को धोते वक़्त पढ़ा जाता है और इसके अलावा Wazu se Pahle aur Wazu ke Baad ki Dua सीखा।

Leave a Comment