सिर दर्द की दुआ हिंदी में|Sar Dard Ki Dua In Hindi

Sar Dard Ki Dua In Hindi: अस्सलामअलेकुम बरहमतुल्लाही बाबाराकतेहू मेरे प्यारे दोस्तों आप सब खैरियत से होंगे आजकल की इस भाग,दौड भरी जिंदगी में सिर के दर्द का होना एक आम समस्या होता जा रहा है यह समस्या किसी भी उम्र में हो सकती है 

दोस्तों वैसे तो सर दर्द को दूर करने के बहुत सारे तरीके होते हैं लेकिन आज हम आपको जो तरीका बताने बाले हैं

ये बहुत ही आसान सा तरीका है, जिसको करने के लिए आपको ज्यादा कुछ करने की जरूरत नहीं होती है।

आल्हा के रसूल मोहम्मद सल्ललाहु अलेही बसल्लम ने इरशाद फ़रमाया की आपके जहा भी दर्द हो जेसे आपके पेट मे दर्द हो या सिर में दर्द हो तो उस पर अपना दाहिना हाथ रखकर तीन बार बिस्मिल्लाहिर्रहमानिर्रहीरहीम पढ़ें और फिर उसके बाद यह दुआ पढ़े।

इंशाअल्लाह सिर का दर्द चुटकियों में दूर हो जाएगा ऐसे बहुत से वजीफे या दुआएं होती हैं जिनसे हम चुटकियों में सिर का दर्द ठीक कर सकते हैं।

सिर दर्द की दुआ | Sar Dard Ki Dua

जब किसी शख्स के सिर में दर्द हो तो उसे चाहिए कि वो अपने सर पर हाथ रखकर “41 बार बिस्मिल्लाह हिर्रहमान निर्रहीम” पढ़े।

See also  Namaz Me Padhi Jane Wali Dua

इसके साथ ही साथ सर में दर्द होने पर अपने हाथ को अपनी पेशानी पर रखकर “सूरह-ए-फातिहा“ की तिलावत करना चाहिए।

सिर दर्द की दुआ हिंदी में

"ला युसद् द ऊना अन्हा वला युनजिफूना"

Sar Dard ki Dua in English

“bismillah hir rahman ir rahim”

सिर दर्द की दुआ अरबी में

لَّا یُصَدَّعُوۡنَ عَنْہَا وَلَا یُنۡزِفُوۡنَ

सिर में दर्द क्यों होता है 

आज के समय में सर दर्द एक आम बात है, जो लगभग सभी लोगों में होता है। तो दुखी न हों हमारे भाइयों और बहनों, क्योंकि यहां हम आपको सर दर्द की दुआ करना सिखाने वालें हैं। कुरान में सर दर्द की दुआ को पढ़ने के बाद  , इंशाअल्लाह, सर्वशक्तिमान अल्लाह निश्चित रूप से आपके जीवन में सिरदर्द की समस्या को दूर करेगा।

सिर दर्द की दुआ का निष्कर्ष

आज की बिजी लाइफ स्टाइल के कारण लोगों को सर दर्द जैसी समस्या बहुत आम समस्या हो गई है। ऐसे में कुछ ऐसे कारणों से आपको बचना चाहिए, जिससे सर दर्द होता है, 

  • पौष्टिक आहार न लेना 
  • कम नींद लेना 
  • बहुत ज्यादा Mobile का इस्तेमाल करना 
  • बहुत ज्यादा  टेंसन लेना 

सर दर्द की दुआ, जिसे सिरदर्द से राहत के दुआ के रूप में भी जाना जाता है, एक पारंपरिक इस्लामी दुआ है जो सिरदर्द के कारण होने वाले दर्द और परेशानी को कम करने के लिए पढ़ी जाती है। माना जाता है कि दुआ, या प्रार्थना में उपचार की शक्तियाँ होती हैं और अक्सर दुनिया भर के मुसलमानों द्वारा आत्म-देखभाल और निवारक दवा के रूप में इसका पाठ किया जाता है।

See also  Azan Ke Baad Ki Dua | अज़ान के बाद की दुआ हिंदी, इंग्लिश और अरबी में

सर दर्द की दुआ मुसलमानों द्वारा इस विश्वास के साथ पढ़ी जाती है कि यह अल्लाह के शब्द हैं और वे उसकी मदद करेगा हैं। इसलिए, इसे बड़ी भक्ति और एकाग्रता के साथ पढ़ा जाता है। यह अनुशंसा की जाती है कि दुआ को सर्वोत्तम परिणामों के लिए कम से कम 3 बार सुबह और 3 बार शाम को पढ़ा जाए। रात में सिर दर्द होने से रोकने के लिए सोने से पहले दुआ पढ़ने की भी सलाह दी जाती है।

आज की इस पोस्ट में हमने जाना, सिर दर्द की दुआ, सिर दर्द के कारण और उसके उपाय। आशा करते हैं, आपको आज की हमारी यह Sar Dard ki Dua in Hindi पोस्ट पसंद आई होगी। इसी प्रकार की अन्य जानकारी योग्य पोस्ट पढ़ने के लिए हमारे इस वेबसाइट पर विजिट करते रहे।

Q.01 सिर दर्द की दुआ कैसे पढ़े?

Ans. सिर दर्द ठीक करने के लिए दुआ पढना सबसे अच्छा तरीका माना जाता है इस दुआ को पढने का सबसे अच्छा तरीका ये होता है वजू करके इस दुआ को पढ़े और पानी में दम करके पी ले और थोडा सा पानी अपने सिर पर लगा ले।

Q.02 क्या सिर दर्द की दुआ करने का कोई विशेष समय होता है?

Ans. नहीं, सिर दर्द की दुआ करने के लिए किसी विशेष समय या स्थान की आवश्यकता नहीं होती है । दुआ किसी भी समय और किसी भी स्थान पर की जा सकती है।

Leave a Comment