Eid Ki Namaz Ka Tarika in Hindi 2023

आज के इस लखे में जानेगे Eid ki Namaz ka tarika for Ladies at Home, eid ki namaz ka tarika for ladies, Ramzan Eid ki Namaz ka Tarika, eid ki namaz ka tarika, Eid ki Namaz Ka Tarika In Hindi,Eid-Ul-Fitr, Eid Ki Namaz Ki Niyat, eid ki namaz ka tarika pdf,eid ki namaz ka tarika for female, eid ki namaz ka tarika in urdu तो चलिए पूरे लेख को समझने के लिए इसे अच्छे से पढना शुरू करते हैं।

Eid Ki Namaz Ka Tarika In Hindi

इस्लाम धर्म में मुसलमान Ramadan Mubarak के महीने में Roza रखने के बाद एक धार्मिक ख़ुशी का तेहवार मनाते हैं जिसे Eid-Ul-Fitr कहा जाता है ये तेहवार मुसलमान Ramadan के महीने के बाद आने वाले महीने “शवाल” के एक तारीख़ को मनाते हैं! 

आलमे इस्लाम का ये एक धार्मिक तेहवार है जो के इस बात की तरफ़ इशारा करता है के अब Ramadan का महीना ख़त्म हो चुका है और हर साल बड़ी धूम धाम से एक “शवाल” को ईद मनाया जाता है

Eid ul Fitr Ki Namaz ka Waqt

ईद उल फितर की नमाज़ का वक़्त सूरज निकलने के तक़रीबन 20 मिनट बाद शुरू हो जाता है और दोपहर तक रहता है। ईद उल अज़्हा की नमाज़ कुछ सवेरे और ईद उल फितर की नमाज़ में कुछ देर करना सुन्नत है। ईद की नमाज़ से पहले न तकबीर है और न कोई नफिल नमाज़।

Ramzan Me Eid ki Namaz ka Tarika

जैसा की आप सभी मुश्लिम भाई बहन ये जानते ही है कि अल्लाह की इबादत करने के लिए दिन में पांच वक्त मस्जिद से अजान दी जाती है जैसे – फज्र की नमाज के लिए अजान, जोहर की नमाज के लिए अजान, असर/मगरिब/ईशा की नमाज के लिए अजान लेकिन ईद की नमाज की कोई अजान नहीं दी जाती है।

  1. ईद-उल-फितर के लिए ऊपर की तरह दो रकात नमाज़ वजीब का इरादा करें और फिर अपने हाथों को अपने कानों तक उठाएं और ‘अल्लाहु अकबर’ कहें और फिर उन्हें नाभि के नीचे सामान्य रूप से बांधें।
  2. अब ‘सना’ (सुभानकाल्लाहुम्मा) पड़ें और फिर अल्लाहु अकबर कहें और अपने हाथों को अपने कानों तक उठाएं और उन्हें छोड़ दें और फिर से अपने हाथों को उठाएं और अल्लाहु अकबर कहें और उन्हें फिर से छोड़ दें और फिर अपने हाथों को उठाएं और अल्लाहु अकबर कहें और फिर उन्हें बांधें।
  3. इसका मतलब है कि पहली और चौथी तकबीर के बाद अपने हाथ जोड़ लें और दूसरे और तीसरे तकबीर में हाथ छोड़ दें। याद रखने का सबसे अच्छा तरीका यह है कि अगर तकबीर के बाद इमाम पढ़े तो अपने हाथ जोड़ लें और जब वह (तकबीर के बाद) न पढ़े तो अपने हाथों को छोड़ दें और उन्हें किनारे पर लटका दें।
  4. चौथे तकबीर के बाद हाथ जोड़कर इमाम चुपचाप ‘औदुबिल्लाह’ और ‘बिस्मिल्लाह’ पढ़ेंगे और फिर सूरह अल-फातिहा (‘अल्हमद शरीफ’) और एक सूरत को जोर से पढ़ेंगे और फिर रुकू और सिजदा में जाएंगे। और (इस प्रकार,) एक रकअत को पूरा करें।
  5. फिर दूसरी रकअत में इमाम पहले अल्हम्दु और सूरत की नमाज़ अदा करेंगे फिर अपने हाथों को अपने कानों तक उठाएँगे और अल्लाहु अकबर कहेंगे और उन्हें छोड़ देंगे; और उन्हें फोल्ड न करें और इसे दो बार दोहराएं। इसलिए कुल तीन बार तकबीर कहा जाएगा। चौथी बार अल्लाहु अकबर बोलो और बिना हाथ उठाए रुकू में जाओ।
See also  Namaz Padhne Ka Tarika Step by Step 2023

नमाज़ के बाद क़ुत्बा होगा फिर दुआ और सलाम होग। उसके बाद दुआ की गुज़ारिश होगी।

Eid ki Namaz Padhne ka Tarika

कुरआन के मुताबिक कोई दुआ तभी मुक्कमल मानी जाते है जब उसे सही तरीके से पढ़ा जाए तभी दुआ अल्लाह तक जाती है और इंसान को अल्लाह की रहमत नसीब होती है 

तो चलिए अब जान एलेते है कि ईद की नमाज पढने का सही तरीका क्या है जिससे अल्लाह हमे अपने पनाहों में लेता है और नूर नजर फरमाता है।

पहली रकात

  • जब इमाम अल्लाह हु अकबर कहेंगा तो आप भी तकबीर कहें।
  • और हाथों को कंधे तक उठाय या कानों तक उठायेफिर दायाँ हाथ बायाँ हाथ की जिराह पर रखे। फिर नाफ के निचे हाथ को बांध ले और सना पढ़े जो निचे दिया गया है
  • “सुबहानका अल्लाहुम्मा व बिहम्दीका व तबारका इस्मुका व त’आला जद्दुका वाला इलाहा गैरुका”
  • फिर आहिस्ता आवाज में सना (यानी पुरा सुब्हानकल्लाहुमा) पढ़े।
  • फिर आऊजूबिल्लाही मिनश् शैतानिर् रजीम पढ़े।
  • इसके बाद बिस्मिल्लाहिर् रहमानिर् रहीम पढ़ें।
  • फिर इसके बाद इमाम साहब तीन मर्तबा तक्बीर कहेगे अल्लाहु अकबर, अल्लाहु अकबर, अल्लाहु अकबर आप भी तकबीर कहेगे।
  • दो मर्तबा अल्लाहु अकबर कह कर कानों तक अपने दोनों हांथो को उठायें और फिर छोड़ दें।
  • और तीसरी मर्तबा में अल्लाहु अकबर कह कर कानों तक अपने दोनों हांथो को उठायें और फिर हाथ बाँध लें।
  • इसके बाद फिर इमाम साहब सूरह फ़ातिहा पढ़ेंगे और फिर कोई दूसरी सूरह पढ़ेंगे इसके बाद इमाम साहब रुकू में जायेगे और फिर सजदे में जायेगे आप भी साथ में रुकू और सजदा करेंगे।
  • फिर इमाम साहब सजदे से उठ कर खड़े हो जायेगे और आप भी। इस तरह ये रकात आम नमाज़ों की तरह ही मुकम्मल करें।
See also  Salatul Tasbeeh Ki Namaz Ka Tarika 2023

इस तरह पहली रकात मुकमल हो जाएगी।

दूसरी रकात

  • पहली रकात पूरी होने के बाद अब इमाम साहब दूसरी रकात के लिए खड़े हो जायेगे और आप भी खड़े हो जाएगे।
  • इसके बाद पहली रकत की तरह इमाम साहब सूरह फ़ातिहा पढ़ेंगे और फिर कोई दूसरी सूरह पढ़ेंगे। इसके बाद इमाम साहब रुकू में जायेगे और फिर सजदे में जायेगे आप भी साथ में रुकू और सजदा करेंगे।
  • फिर इमाम साहब चार तक्बीरें (अल्लाहु अकबर) कहेगे।
  • तीन तकबीरों में अपने हांथो को उठा कर छोड़ देना है और फिर चौथी तकबीर में बगैर हाथ उठाये रुकू में चले जाना है। इसके बाद फिर आप आम नमाज़ों की तरह इस नमाज़ को मुक़म्मल करे है।
  • इस तरह ईद उल फ़ित्र की नमाज़ मुकमल हुई। उसके बाद आपको दुआ मांगनी है।

Eid Ki Namaz Ka Tarika for Ladies at Home

औरत ईद की नमाज़ कैसे पढ़े? ये सवाल अक्सर ,मुस्लिम औरतों के जहेन में आत है AURAT EID KI NAMAZ KAISE PADHE) मर्द तो ईद की नमाज हजरात ईदगाह में जाकर अदा करते है, लेकिन औरत अक्सर सवाल करती है क्या औरत पर ईद की नमाज फर्ज है? 

तो ऐसे में हम आपको बता दे कि ईद की नमाज औरत पर वाजिब नहीं है। औरत का मसअला यह है, अगर ईदगाह में ईद की नमाज  के लिए औरतो के लिए अलग से इन्तेजाम कियर गये है तो ही औरत ईद की नमाज़ ईदगाह में जाकर नमाज जमाअत के साथ अदा कर सकती है। और याद रहे वो परदे की हालत में हो और फ़ितने वगैरह का अंदेशा नहीं हो तो ही जमाअत में शामिल हो सकती है।

See also  Namaz Padhne Ka Tarika Step by Step 2023

इसलिए दुरुस्त यही होगा की औरत घर पर ही नफ़्ल नमाज़ अदा करे। अल्लाह पाक रहीम करीम है इंशाअल्लाह औरत की घर पर पढ़े गए नमाज से कसीर तादात में सवाब हासिल होगा बस नमाज दिल से पढ़ी गई हो अल्लाह पाक दिल की गहराई देखता है नमाज पढने की जगह नही।

उम्मीद करते है दोस्तों आपको ये लेख में बताये गये Eid Ki Namaz Ka Tarika in Hindi अच्छे से समझ आ गया होगा  हमने पूरी कोशिश की है की आपको आसान भाषा में समझा सके।

Leave a Comment