दूसरा कलमा 2023 | Dusra Kalma in Hindi

अस्सलामु अलैकुम इस्लाम को मानने वालो के लिए Dusra Kalma पढना सवाब का जरिया माना जाता है, अगर आपको दूसरा कलमा पढने साथ ही उसके तर्जुमा को भी जानना है तो आप सही जगह आए हो। यहाँ आपको Dusra Kalma in Hindi, English और Arabic में पढने और साथ ही कुछ और बाते पूरी जानकारी के लिए इस पोस्ट को पूरा पढ़ें।

Note: किसी भी दुआ को पढ़ने से पहले अऊज़ुबिल्लाही मिनाश सैतानिर्रजिम बिस्मिल्लाह हिर्रहमा निर्रहीम पढ़े उसके बाद ही दुआ पढ़े।

Dusra Kalma e Shahadat क्या है?

क़ुरान में कलमों की संख्या 7 है, लेकिन उनमें से ज्यादातर लोग 6 ही कलमे पढ़ते हैं, इन्ही में से एक है, दूसरा कलमा जिसे कलमा ए शहादत के नाम से जाना जाता है, इस कलमे में खुदा के ममुद होने के बारे में बताया गया है,

साथ ही  बताया गया है, कि उनके जितना बलवान कोई और नही है। और हज़रत मुहम्मद के बारे में बताया गया है, की वे ही खुदा के द्वारा कायनात में भेजे गए आखिरी नबी हैं।

दूसरे कलमे शहादत को पढ़ना बहुत जरूरी है, जिससे कलमा ए शहादत को पढ़ना का फायदा, पढ़ने वाले को पूरी तरह से मिल सके।

Dusra Kalma in Hindi  को कब पढ़ें?

दूसरे कलमा शहादत को पढ़ने का वैसे तो कोई नियम कानून नहीं बताया गया है, परन्तु आप बा वजू होकर नमाज़ के बाद इस कलमे यानी कि 2nd Kalma in Hindi को पढ़ सकते हैं।

Dusra Kalma Shahadat In Hindi

“अश-हदु अल्लाह इलाहा इल्लल्लाहु वह दहु ला शरी-क लहू व अशहदु अन्ना मुहम्मदन अब्दुहु व रसूलुहु”।

Dusra Kalma Shahadat In Hindi Tarjuma

दूसरा कलमा तर्जुमा – मैं गवाही देता हु कि अल्लाह के सिवा कोई माबूद नहीं है, वो अकेले है और अल्लाह का कोई शरीक नहीं है, और मैं गवाही देता हु कि नबी ए करीम ﷺ सलल्लाहो अलैहि वसल्लम अल्लाह के प्यारे वा नेक बन्दे है और यह आखिरी रसूल है”।

Dusra Kalma Shahadat In English

 “Ashahado An Laa Ilaaha Illal Wa Ash Hadu Anna Mohammadan Abdu Hoo Wa Rasoolohoo”।

Dusra Kalma Shahadat In Arabic

“اشْهَدُ انْ لّآ اِلهَ اِلَّا اللّهُوَ اَشْهَدُ اَنَّ مُحَمَّدً اعَبْدُهوَرَسُولُه”

Dusra Kalma In Hindi मतलब क्या है?

  • दूसरा कलमा को कलमा शहादत के नाम से जाना जाता है। जिसका मतलब होता है: – गवाही देना।
  • इस कलमे में बताया गया है कि पूरी कायनात का मालिक सिर्फ और सिर्फ अल्लाह है।
  • अल्लाह का कोई भी साथी नहीं है वो अकेला पूरी कायनात का मालिक है।
  • और हज़रत मुहम्मद के बारे में बताया गया है, कि वे अल्लाह के सबसे नेक बन्दे हैं और इस कायनात में भेजे गए आखिरी नबी हैं।

Dusra Kalma in Hindi FAQs

Q.01 कलमा कैसे पढ़ते हैं?

Ans. किसी भी दुआ या कलमा को पढ़ने से पहले “अऊज़ुबिल्लाही मिनाश सैतानिर्रजिम बिस्मिल्लाह हिर्रहमा निर्रहीम” पढ़े उसके बाद ही दुआ पढ़े।

Q.02 पहला कलमा क्या होता है?

Ans. पहला कलमा का नाम है “तय्यब” जो की इस तरह है – “ला इलाहा इल्लाहु मुहम्मदुर्र सूलुल्लाह”।

Q.03 दूसरा कलमा कौन सा है?

Ans. दूसरा कलमा का नाम है “शहादत” जो की इस तरह है – “अशहदु अल्लाह इल्लाह इल्लल्लाहु, व अशदुहु अन्न मुहम्मदन अब्दुहु व रसूलुहु”।

Q.04 तीसरा कलमा कौन सा है?

Ans. तीसरा कलमा का नाम है “तमजीद” जो की इस तरह है – “सुब्हानल्लाही वल हम्दु लिल्लाहि वला इलाहा इलल्लाहु वल्लाहु अकबर वला हौल वला कुव्वता इल्ला बिल्लाहिल अलिय्यील अज़ीम”।

Q.05 इस्लाम के कितने अरकान हैं?

Ans. इस्लाम की बुनियाद पांच अरकान होते है। कलमा पढ़ना, नमाज पढ़ना, रोज़े का रखना, जकात का देना और अपनी हलाल कमाई से हज करना।

Q.06 कुरान के लेखक कौन हैं?

Ans. कुरान ए पाक अल्लाह की  तरफ से नजिल हुई पाक किताब है जिसे जैद बिन साबित (655 ई.) कुरान को इकट्ठा करने वाले पहले शकस थे, क्योंकि वो हमारे और आपके प्यारे नबी सलल्लाहो अलैहि वसल्लम के जरिए पढ़ी गई आयतों और सूरतों को लिखा लिया करते थे। इसी तरह से ज़ैद बिन साबित ने ही आयतों को एक-एक करके कुरान को मुक्कमल एक किताब बनाया और पूरी हुई कुरान फिर हज़रत अबू बकर को मिली थी।

Dusra Kalma in Hindi Conclusion

जैसा कि हमने ऊपर Dusra Kalma in Hindi पढ़ा और इसकी हिंदी में तर्जुमा और फ़ज़ीलत पढ़ी। अब आप रोजाना इस्लामिक कलमों को पढ़ना शुरू करें।

तो दोस्तों मुझे उम्मीद है की अब आपको दूसरा कलमा (Dusra Kalma Shahadat in Hindi) के बारे मे और हिंदी में तर्जुमा (Dusra Kalma Shahadat in Hindi Tarjuma) इसकी पूरी जानकारी मिल गई होगी।

Leave a Comment