Azan Ke Baad Ki Dua | अज़ान के बाद की दुआ हिंदी, इंग्लिश और अरबी में

अस्सलामु अलैकुम दोस्तों, आज इस लेख में हम आप के लिए एक अहम और बहुत फ़ज़ीलत वाली दुआ “अज़ान के बाद की दुआ/Azan Ke Baad Ki Dua” लेकर आए हैं। इसे हमनें आपकी सहूलियत के हिसाब से  हिंदी, इंग्लिश और अरबी में भी लिखा है। आप इसे जिस भाषा में चाहे पढ़कर याद कर सकते हैं। हमनें इसे बहुत अच्छे से लिखा है, अल्लाह पाक हमें इन दुआ में गलती से बचाए।

अज़ान हर नमाज़ के पढ़ने से पहले होती है। अज़ान की दुआ को याद करना ही एक बहुत बड़ी फ़ज़ीलत मानी जाती है जिसको सीखने के लिए आप यहाँ पर तसरीफ लाए है। यह दुआ को सिखाने के लिए भरपूर कोशिश की गयी है जिसमे अलग अलग भाषा और तर्जुमा को बताया गया है।

अज़ान का इस्लाम में बहुत बड़ा मकाम है अज़ान के वो चंद अल्फाज़ है जिन्हें हम रोजाना दिन में 5 बार सुनते है। पूरी दुनिया मे सबसे ज्यादा गूंजने वाली आवाज अगर कोई है तो वो सिर्फ अज़ान Azan की आवाज है।

चाहे जंगल हो या आबादी, शहर हो या गांव , दुनिया के किसी भी कोने में कहीं भी नमाज़ कायम होती है तो सबसे पहले अज़ान दी जाती है| आपको पता होना चाहिए कि नमाज़ पढ़ने के बुलावा के लिए अज़ान देते है।

अज़ान का मतलब क्या होता है?

अज़ान का मतलब ऐलान होता है यानी की अल्लाह की इबादत [नमाज] के लिए लोगो को मस्जिद में बुलाने की दावत दी जाती है और लोग मस्जिद में पहुँचते हैं अज़ान की आवाज सुन कर इसे अजान कहा जाता है।

See also  Namaz Me Padhi Jane Wali Dua

दूसरे शब्दों में हम यह भी कह सकते है कि अल्लाह के घर में यानी मस्जिद में नमाज की दावत के लिए पुकारना ही अज़ान है।

Azan ke Baad Ki Dua in Hindi

अल्लाहुम्मा रब्बा हाज़ीहिल दावती-त-ताम्मति वस्सलातिल कायिमति आती मुहम्मदानिल वसिलता वल फ़ज़ीलता वद्दरजतल रफ़ीअता वब’असहू मक़ामम महमूदा निल्ल्जी व्’अत्तहू वर ज़ुक्ना शफ़ाअतहु यौमल क़ियामती इन्नका ला तुखलिफुल मीआद |

अजान के बाद की दुआ का तर्जुमा हिंदी में

ए अल्लाह ! ए परवरदिगार इस पूरी पुकार और कायम होने वाली नमाज़ के रब हज़रत मुहम्मद स.अ. को वसीला और फ़ज़ीलत और बुलंद दर्ज़ा अता फरमा और उनको मक़ामे महमूद में खड़ा कर जिसका तूने उनसे वादा किया और हमें कयामत के दिन उनकी शफाअत से बहरामंद कर। बेशक तू वादा खिलाफी नहीं करता |

Azan ke Baad Ki Dua in English

Allahumma rabba hazihid dawwatit taammati wassalatul kaimah aati muhammadanil waseelata wal fazeelata waddarazata- rrafeeyata wab ashu makamam mahmooda allazi wa addatuhu warzukana shafaatahu yaumal qiyamati innaka la tukhliful miyaad।

O Allah!  O Almighty, the Lord of this whole call and the everlasting prayer, Hazrat Muhammad S.A.  Give us the blessings and virtues and high status and raise them in the maqama Mahmud which you promised them and banish us from their sacrifice on the Day of Judgment.  Of course you do not disobey.

Azan ke Baad Ki Dua in Arabic

اَللّٰہُمَّ رَبَّ ھٰذِہِ الدَّعْوَةِ التَّآمَّةِ وَالصَّلٰوةِ الْقَآئِمَةِ اٰتِ مُحَمَّدَنِ الْوَسِیْلَةَ وَالْفَضِیْلَةَوَالدَّرَجَتَہ الرَّفِیٌعَتَہ وَابْعَثْہُ مَقَامًا مَّحْمُوْدَنِ الَّذِیْ وَعَدْتَّہ  وَر زُکنا شَفاعَتَھُ یَوٌمَ الٌقِیٰمَتہِ اِنَّکَ لَا تُخٌلِفُ الٌمِیٌعَاد

अज़ान के बाद की दुआ का तर्ज़ुमा उर्दू में

اے اللہ!  اے قادر مطلق ، اس پوری پکار کا رب اور قاعم ہونے والی نماز کے رب ، حضرت محمد کو قیامت کے دن وسیلا عتا فرما ۔ اور ان کو اس مقام محمود میں بلند فرما جس کا تو نے ان سے وعدہ کیا تھا اور قیامت کے دن ہمیں ان کی قربانی سے نکال دے۔  یقینا آپ نافرمانی نہیں کرتے۔

See also  सेहरी की नीयत की दुआ हिंदी, इंग्लिश और अरबी में | Sehri Ki Niyat ki Dua

अज़ान का जवाब देने का तरीका

अज़ान:- अल्लाहु अकबर अल्लाहु अकबर (2 बार)

जवाब:- अल्लाहु अकबर अल्लाहु अकबर (2 बार)

तर्जुमा:- अल्लाह बहुत बड़ा है , अल्लाह बहुत बड़ा है (2 बार)

अज़ान:- अशहदु अंल्लाइलाहा इल्लल्लाहु (2 बार)

जवाब:- अशहदु अंल्लाइलाहा इल्लल्लाहउ (2 बार)

तर्जुमा:- में गवाही देता हूँ की अल्लाह के अलावा कोई माबूद नहीं (2 बार)

अज़ान:- अशहदु अन्ना मुहम्मदर रसुलल्लाह (2 बार)

जवाब:- अशहदु अन्ना मुहम्मदर रसुलल्लाह (2 बार)

तर्जुमा:- में गवाही देता हूं की हज़रत मुहम्मद सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम अल्लाह के रसूल हैं (2 बार)

अज़ान:- हय्या अलस्सल्लाह (2 बार)

जवाब:- लाहौ ला कुव्व ता इल्ला बिल्लाह (2 बार)

तर्जुमा:- आओ नमाज़ पढ़ने के लिए (2 बार)

अज़ान:- हय्या अलल फलाह (2 बार)

जवाब:- लाहौ ला कुव्व ता इल्ला बिल्लाह (2 बार)

तर्जुमा:- आओ निजात पाने के लिए (2 बार)

अज़ान:- अल्लाहु अकबर अल्लाहु अकबर

जवाब:- अल्लाहु अकबर अल्लाहु अकबर

तर्जुमा:- अल्लाह बहुत बड़ा है , अल्लाह बहुत बड़ा है

अज़ान:- ला इल्लाहा इल्लल्लाह

जवाब:- ला इल्लाहा इल्लल्लाह

तर्जुमा:- अल्लाह के सिवा कोई माबूद नहीं

अज़ान:- अस्‍सलातु खैरूं मिनन नउम अस्‍सलातु खैरूं मिनन नउम (सिर्फ फज़र अज़ान में)

जवाब:- अस्‍सलातु खैरूं मिनन नउम अस्‍सलातु खैरूं मिनन नउम

तर्जुमा:- नमाज़ नींद से बहतर है नमाज़ नींद से बहतर है

अजान के बाद की दुआ की फ़ज़ीलत

AZAN KE BAAD KI DUA KI FAZILAT: हुजूरे सल्ललल्लाहू अलैहि व् सल्लम ने फरमाया कि कयामत के दिन अजान देने वाला बड़ा रुतबा पायेगा और जितनी चीजे अजान की आवाज सुनेगी, क़यामत के दिन अजान देने वाले की गवाही देंगी जहा तक अजान की आवाज पहुँचती है उतनी ही उस पर मगफिरत होती है और दोजख की निजात होती है

See also  Nazar Se Bachne Ki Dua

FAQs related to Azan ke Baad Ki Dua

अजान के वक्त क्या पढ़ना चाहिए?

अज़ान के वक़्त अज़ान का जवाब देना चाहिए जिसके बारे में पूरी जानकारी ऊपर दी है।

अज़ान और नमाज़ में क्या अंतर है?

नमाज़ और अज़ान और बहुत सारे अंतर है लेकिन सबसे बड़ा अंतर है कि अज़ान नमाज़ पढ़ने के लिए बुलाने के लिए है।

अज़ान के बाद क्या प्रार्थना करनी चाहिए?

अज़ान के बाद इसकी दुआ पढ़ना चाहिए जिसको पढ़ने से आपको क़यामत के दिन सिफ़ाअत मिलेगी।

अजान में क्या पढ़ते हैं?

अज़ान में अल्लाह और मोहम्मद (सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम) की ज़िक्र के साथ लोगो को नमाज़ पढ़ने के लिए बुलाते है।

दोस्तों हमने इस लेख में आपको Azan ke Baad Ki Dua के बारे में विस्तार से बताया है और किसी भी गलती से बचने के लिए अपनी पूरी कोशिश की है।

लेकिन किसी दुआ में या तर्जुमे में कोई गलती पाएं तो बराह-महेरबानी हमें कमेंट करके बतायें, ताके हम उस के मुताबिक़ तब्दीली कर सकें। और यदि आप एक मुसलमान भाई हैं और आप अल्लाह के 99 नामों को नहीं जानते हैं तो इस लेख को जरुर पढ़ें: 99 Names of Allah in Hindi

Leave a Comment